Tuesday, 20 November, 2018
- 14 October, 2018

कम्मुनिस्ट पार्टी ऑफ़इंडिया बहुजन समाज पार्टी और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) गठबंधन में शामिल   

छत्तीसगढ़ में बहुजन समाज पार्टी और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के गठबंधन की अपार लोकप्रियता एवं भारी जनसमर्थन के बीच, कम्युनिस्टपार्टी ऑफ़ इंडिया ने आज एक ऐतिहासिक कदम उठाते... #cpi-joins-hand-with-bsp-jccj-combine-in-chhattisgarh

छत्तीसगढ़ में बहुजन समाज पार्टी और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के गठबंधन की अपार लोकप्रियता एवं भारी जनसमर्थन के बीच, कम्युनिस्टपार्टी ऑफ़ इंडिया ने आज एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए, बहुजन समाज पार्टीऔर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के गठबंधन में शामिल होने का निर्णय लिया है।

सीपीआई महागठबंधन की ताकत दुगुनीहो गयी है और इसमें कोई संदेह नहीं है कि तीन समान विचारधारा के दलों कायह जनसमर्थित महागठबंधन, अगले माह होने वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव मेंमहाविजयी गठबंधन सिद्ध होगा। 

सीपीआई महागठबंधन की पकड़बस्तर सहित कई अन्य विधानसभाओं में मजबूत होगी, विशेषकर उन क्षेत्रों मेंजहाँ मजदूर वर्ग बहुसंख्या में है।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजीत जोगी बसपा-जेसीसीजे सीपीआई महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री प्रत्याशी होंगे।

 डॉ रमन सिंह के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार की निति और नियत दोनों जनविरोधीहै।जो मुख्यमंत्री पिछले १५ वर्षों में छत्तीसगढ़ में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापनकरने मजबूर, राज्य के ५० प्रतिशत लोगों को गरीबी के दलदल से बाहर नहीं निकालपाया उसे मुख्यमंत्री  बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। 

सीपीआई महागठबंधन का उद्देश्य छत्तीसगढ़ के दलित, अतिपिछड़ा, आदिवासी, मेहनतकश, अल्पसंख्यक, सामान्य वर्ग के गरीब लोग, गाँव, मजदूर और किसान के मतों को संगठित कर एक ऐसी सरकार बनाना है जोछत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ियों के हितों के निर्णय छत्तीसगढ़ के लोगों के द्वारा, छत्तीसगढ़ में ही लिए जाने की व्यवस्था लागू करेगी।

 बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा और कोंटा विधानसभा सीटों में सीपीआई के प्रत्याशीमहागठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी होंगे। दंतेवाड़ा और कोंटा सीटों पर सीपीआई कीशुरू से ही बहुत मजबूत पकड़ रही है। अविभाजित मध्यप्रदेश के समय 1990 और1993 के चुनावों में इन दोनों सीटों पर सीपीआई ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद1998 के विधानसभा चुनावों में इन दोनों सीटों पर सीपीआई के प्रत्याक्षी द्वितीयस्थान पर रहे। पृथक छत्तीसगढ़ का निर्माण होने के बाद 2003 में हुए पहलेविधानसभा चुनावों में भी इन दोनों सीटों पर सीपीआई द्वितीय स्थान पर रही।  2008 के विधानसभा चुनावों में दंतेवाड़ा में सीपीआई के प्रत्याक्षी द्वितीय स्थान पररहे जबकि कांग्रेस तृतीय स्थान पर थी। वहीं 2008 में कोंटा में बहुत ही नजदीकीमुकाबले में सीपीआई के प्रत्याशी मात्र 879 वोटों से कांग्रेस उम्मीदवार से हारे।2013 के चुनावों में दोनों सीटों पर सीपीआई के प्रत्याक्षी तृतीय स्थान पर रहे।

BALCO, भिलाई स्टील प्लांट, एनएमडीसी, एनटीपीसी, रेल्वे समेतअन्य उद्योगों में सीपीआई समर्थित श्रमिक संगठनों की सदस्यता पूरे छत्तीसगढ़ मेंसबसे अधिक है। छत्तीसगढ़ के श्रमिक आंदोलन में सीपीआई, दोनों भाजपा औरकांग्रेस समर्थित श्रमिक संगठनों से बहुत आगे है। बसपा-जेसीसीजे-सीपीआईमहागठबंधन को इस श्रमिक आंदोलन का साथ मिलने से मज़बूती मिलेगी।

सीपीआई एवं सीपीआई तथा सीपीआई समर्थित मज़दूर यून्यन द्वारा बस्तर की अन्यसीटें विशेषकर चित्रकोट और बीजापुर तथा औद्योगिक क्षेत्र जैसे कोरबा और भिलाईनगर में महागठबंधन के पक्ष में प्रचार किया जाएगा। इन क्षेत्रों में चुनावों में सीपीआईद्वारा उम्मीदवार नहीं उतारा जाएगा।

-महागठबंधन के मुख्यमंत्री प्रत्याशी श्री अजीत जोगी अगले हफ्ते 20 से 24 अक्टूबरतक बसपा-जेसीसीजे-सीपीआई महागठबंध के प्रत्याशियों के पक्ष मेंअपने धुआँधार बस्तर दौरे के लिए कूच करेंगे एवं 23 अक्टूबर को कोंटा औरदंतेवाड़ा में सीपीआई के उम्मीदवारों के पक्ष में भी विशाल आमसभाओं को संबोधितकरेंगे।  

राजनीतिक दलों की संगठनात्मक क्षमता को आँका जाए तो कांग्रेस एकसंगठनविहीन दल है। ज़मीनीस्तर में कार्य करने वाले कार्यकर्ता नहीं है। वहीं पंद्रहसाल सत्ता के नशे में चूर भाजपा का संगठन ज़मीन से कोसों दूर हवा में चल रहा है।बसपा-जेसीसीजे-सीपीआई तीनों दल संगठन आधारित दल हैं। तीनों दलों के साथआने से ऐतिहासिक और मजबूत महागठबंधन निर्मित हुआ है। उसी प्रकार तीनों दलोंके संगठन के साथ आने से पूरे छत्तीसगढ़ में ब्लॉक और बूथ स्तर पर एक विराटतीनों दलों का एक महासंगठन तैयार हुआ है जो छत्तीसगढ़ के इतिहास में अब तकका सबसे बड़ा संयुक्त संगठन होगा। बसपा-जेसीसीजे-सीपीआई के महागठबंधनऔर महासंगठन के सामने भाजपा और आरएसएस का संगठन निश्चित ही पराजितहोगा।

Bhopal - The City of Lakes
HOTELS & RESTAURANTS
COLLEGES
ART & CULTURE
MAJOR TOURIST ATTRACTIONS
TECHNICAL UNIVERSITIES & INSTITUTIONS
MEDICAL COLLEGES & HOSPITALS
UNIVERSITIES & ACADEMIES
SCHOOLS
INDUSTRIAL HOUSES
 
Tourist Attractions in M.P.
NATIONAL PARKS AND WILDLIFE SANCTUARIES
HISTORICAL & ARCHAEOLOGICAL IMPORTANT PLACES
HERITAGES & MONUMENTS
HOLY CITIES
HILL RESORTS